अमर शहीदों को श्रद्धांजलि थीम पर संगोष्ठी का आयोजन
साइंटिफिक एप्रोच आफ होम्योपैथिक मेडिसिन 

लखनऊ:, 28 फरवरी। राजकीय नेशनल होम्योपैथिक मेडिकल कालेज लखनऊ के मेटिरिया मेडिका विभाग द्वारा परास्नातक छात्र-छात्राओं के ज्ञानार्जन हेतु एक संगोष्ठी का आयोजन ‘साइटिफिक एप्रोच आफ होम्योपैथिक मेडिसिन’ अमर शहीदों को श्रद्धांजलि थीम’ के साथ किया गया।

संगोष्ठी के मुख्य अतिथि प्रो.वी.पी. शर्मा प्रिंसिपल साइन्टिस आई.आई.टी.आर., सी.एस.आई.आर. थे, जिन्होंने होम्योपैथिक दवाओं का विज्ञान की मुख्य द्वारा से किस प्रकार से जोड़कर उपयोग किया जाये जिससे रोगियों को अधिक लाभ मिले आज जरूरत है होम्योपैथिक सिद्धान्त को आधुनिक वैज्ञानिक तरीके से इस्तेमाल करने कीं डा0 शर्मा ने छात्र एवं छात्राओं को सलाह दी की आप लोग वैज्ञानिक तरीकें से रोगियों का उपचार करें तथा आंकड़े तैयार करें तो इससे ज्यादा लाभ होम्योपैथिक और समाज को मिलेगा तथा आप लोग अपने आप को विज्ञान की मुख्य धारा से जोड़ पायेंगे।

मेटिरिया मेडिका विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो0 अमित नायक ने मानसिक लक्षणों के महत्व को छात्र एवं छात्राओं का समझाया तथा बताया कि किस प्रकार से मानसिक लक्षणों के आधार पर जटिल से जटिल रोगों को ठीक किया जा सकता है। संगोष्ठी का शुभारम्भ ‘अमर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करके तथा उनको नमन करते हुए प्रारम्भ किया गया।

प्राचार्य डा. हेमलता एवं डा. रत्नेश कुमार प्रवक्ता कम्युनिटी मेडिसिन (विभाग) ने मुख्य अतिथि प्रो. वी.पी. शर्मा को पुष्प भेंट कर स्वागत किया। संगोष्ठी का संचालन मेटिरिया मेडिका की प्रोफेसर डा. स्मिता सिंह विमल ने किया तथा अमर शहीदों को श्रद्धांजलि देने की थीम’ के रूपरेखा उन्होंने तैयार की थी।

संगोष्ठी में परास्नातक छात्र-छात्राओं की संख्या 18 तथा इन्टर्न एवं छात्र-छात्राओं की संख्या लगभग 100 थी। हास्पिटल इन्चार्ज डा. वी.पी. वर्मा सहित कालेज के सभी फैक्ल्टी के शिक्षक-शिक्षकाएं उपलब्ध थी। संगोष्ठी समापन के पश्चात, डा. ओ.पी. सिंह ने धन्यवाद ज्ञापन, मुख्य अतिथि, प्राचार्य, प्रो0 अमित नायक तथा छात्र एवं छात्राओं के प्रति संगोष्ठी को सफल बनाने हेतु किया।