भू-सम्पदा विनियामक प्राधिकरण के कार्यों के प्रभावी क्रियान्वयन हेतु चार समितियों का गठन
लखनऊ, 14 फरवरी। उत्तर प्रदेश सरकार ने उ0प्र0 भू-सम्पदा विनियामक प्राधिकरण के कार्यों को प्रभावी रूप से क्रियान्वित करने के लिए 04 समितियों का गठन किया है। ये समितियां रीयल स्टेट परियोजनाओं/प्रमोट्र्स के लिए वार्षिक ग्रेडिंग आधारित पद्धति की डिजाइनिंग और इनके क्रियान्वयन, फोरेंसिक आॅडिटर्स की सूचीबद्धता, मीडिया एजेंसी के चयन तथा आॅफलाइन परीक्षण करने के लिए वित्तीय बिड्स के आमंत्रण कार्य को क्रियान्वित करेगी। 

उत्तर प्रदेश भू-सम्पदा विनियामक प्राधिकरण से प्राप्त जानकारी के अनुसार परामदर्शता के  चयन के लिये आमंत्रित बिड्स के तकनीकी मूल्यांकन हेतु रेरा के अध्यक्ष राजीव कुमार की अध्यक्षता में समिति का गठन किया गया है। इस समिति में उपाध्यक्ष लखनऊ विकास प्राधिकरण, निदेशक आई0आई0एम0 लखनऊ अथवा उनके द्वारा नामित सुसंगत कार्यक्षेत्र के प्रोफेसर, कुलपति, ए0के0टी0यू0 द्वारा नामित सुसंगत कार्यक्षेत्र के प्रोफेसर तथा उत्तर प्रदेश भू-सम्पदा विनियामक प्राधिकरण के सचिव को सदस्य नामित किया गया है।  

फोरेंसिक आॅडिटर के सूचीबद्धता के लिए आमंत्रित बिड के तकनीकी मूल्यांकन हेतु रेरा के सदस्य बलवींदर कुमार की अध्यक्षता में समिति का गठन किया गया है। इसमें विनियामक प्राधिकरण के सचिव एवं वित्त नियंत्रक, आई0आई0एम0 के निदेशक तथा इंस्टीट्यूट आॅफ चार्टर्ड एकाउटेंट आफ इंडिया, लखनऊ शाखा अथवा उनके नाॅमिनी को सदस्य बनाया गया है। 

मीडिया एजेंसी के चयन के लिए आमंत्रित बिड के तकनीकी मूल्याकंन के लिये रेरा के अध्यक्ष की अध्यक्षता में 05 सदस्य समिति का गठन किया गया है। इनके सदस्य के रूप में कुलपति लखनऊ विश्वविद्यालय द्वारा नामित माॅस काॅमयूनिकेशन संकाय के प्रोफेसर, भू-सम्पदा प्राधिकरण के सचिव, सूचना निदेशक अथवा उनके द्वारा नामित अधिकारी तथा रेरा के कन्सिलिएशन कन्सलटेन्ट आर0डी0 पालीवाॅल को नामित किया गया है। 

इसी प्रकार आॅफलाइन परीक्षण करने के लिए आमंत्रित वित्तीय बिड्स के मूल्यांकन हेतु रेरा के सचिव की अध्यक्षता में समिति बनायी गयी हैं। इस समिति में रेरा के काउंसलिंग कन्सेलटेन्ट मणि प्रसाद मिश्र, वित्त नियंत्रक रेरा तथा ए0के0टी0यू0 द्वारा नामित सुसंगित कार्यक्षेत्र के प्राधिकारी को सदस्य बनाया गया है। 

भू-सम्पदा विनियामक प्राधिकरण के अनुसार बिड्स के तकनीकी मूल्यांकन हेतु गठित समितियों में सम्मिलित एक्सटर्नल विभागों के प्राधिकारियों/अधिकारियों को उत्तर प्रदेश रेरा के कार्योें में समिति के अध्यक्ष के रूप में योगदान करने के लिए 5000रू0 एवं सदस्य के रूप में योगदान करने के लिए 3000रू0 प्रति सिटिंग की दर से मानदेय दिया जायेगा। बिड्स के तकनीकी परीक्षण हेतु समिति की बैठक की तिथि तथा समय का निर्धारण समिति के अध्यक्ष की सहमति से किया जायेगा।