बिहार के राज्यपाल प्रयागराज कुम्भ में सम्मिलित हुए
 

 

प्रयागराज सहित कुम्भ क्षेत्र को स्वच्छ और सुन्दर बनाने की 

दिशा में उ0प्र0 सरकार का यह प्रयास विस्मरणीय: राज्यपाल

लखनऊ: 14 फरवरी। बिहार के राज्यपाल लालजी टण्डन जी ने प्रयागराज कुम्भ में श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा की गई व्यवस्थाओं की प्रशंसा की है। उन्होंने कहा कि प्रयागराज सहित कुम्भ क्षेत्र को स्वच्छ और सुन्दर बनाने की दिशा में राज्य सरकार का यह प्रयास विस्मरणीय है। प्रयागराज कुम्भ अपनी दिव्यता और भव्यता के कारण देश व दुनिया में सभी लोगों द्वारा सराहा जा रहा है। केन्द्र व उ0प्र0 सरकार के प्रयासों से ही श्रद्धालुओं को इस कुम्भ में अक्षयवट व सरस्वती कूप का दर्शन लाभ मिल रहा है। राज्य सरकार के प्रयासों से इस बार कुम्भ में गंगा जी और यमुना जी में पर्याप्त मात्रा में निर्मल जल की व्यवस्था सुनिश्चित की गयी है, जिससे श्रद्धालुओं को स्नान हेतु स्वच्छ और निर्मल जल प्रचुर मात्रा में मिल रहा है। 

राज्यपाल जी ने यह विचार कुम्भ प्रवास के दौरान व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि त्रिवेणी के पवित्र संगम पर स्नान, दर्शन व पूजन में सम्मिलित होना एक अलौकिक अनुभूति है। हमारे देश की आध्यात्मिक, सांस्कृतिक, सामाजिक एवं वैचारिक विविधताओं का संगम भी इस आयोजन में देखने को मिलता है। उन्होंने कुम्भ को मानवता के अपार जनसमूह के समागम का पर्व बताते हुए कहा कि इसमें देश और दुनिया की विभिन्न संस्कृतियों के लोगों की भागीदारी हो रही है। इस बार का कुम्भ आयोजन पूरे विश्व को संदेश देने वाला है, जो एकता, स्वच्छता, राष्ट्र निर्माण तथा लोक कल्याण की भावना से ओत-प्रोत है।

इस अवसर पर उन्होंने पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी जी, परमार्थ निकेतन के  चिदानन्द स्वामी मुनि जी, जूना अखाड़ा के  अवधेशानन्द गिरि जी महाराज, नेत्र कुम्भ के स्वामी वासुदेवानन्द जी महाराज, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह  कृष्ण गोपाल जी, पद्मश्री ब्रह्मदेभ शर्मा ‘भाईजी’, फिल्म निर्माता सुभाष घई, निर्देशक  मधुर भण्डारकर, गायक रूप कुमार राठौर से मुलाकात की।