ई-गवर्नेंस के लिए राजस्व परिषद उ.प्र. को राष्ट्रीय स्वर्ण पुरस्कार का सम्मान
 

अध्यक्ष, राजस्व परिषद द्वारा पुरस्कार एवं प्रशस्ति पत्र मुख्यमंत्री को भेंट

लखनऊ,  28 फरवरी। उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष राजस्व परिषद प्रवीर कुमार ने आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  को ई-गवर्नेंन्स के लिए राजस्व परिषद को प्राप्त राष्ट्रीय (स्वर्ण) पुरस्कार भेंट किया और उन्हें अवगत कराया कि यह पुरस्कार राजस्व परिषद को देश में सर्वाेत्कृष्ट ई-गवर्नेंन्स सुविधा उपलब्ध कराने के एवज में भारत सरकार ने दिया है।प्रवीर कुमार ने आज यहां मुख्यमंत्री को पुरस्कार, प्रशस्ति पत्र भेंट करने के बाद बताया कि इस पुरस्कार को भारत सरकार के राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डा0 जीतेन्द्र सिंह ने गत 27 फरवरी को नई दिल्ली के डा0 अम्बेडकर अन्तर्राष्ट्रीय केन्द्र में आयोजित समारोह में प्रदान किया है। प्रवीर कुमार ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया है कि भूमि के डिजिटल दस्तावेज बनाने के कारण उ0प्र0 को ‘प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना’ में अद्वितीय सफलता प्राप्त हुई है। उन्होंने यह भी अवगत कराया कि इस योजना के अन्तर्गत आच्छादित होने वाले राज्य के 1 करोड़ से अधिक किसानों के खाते में प्रत्येक किसान को 2000 रुपये के हिसाब से धनराशि अन्तरित कराने की उल्लेखनीय सफलता प्राप्त हुई है। उन्होंने बताया कि राजस्व परिषद की ई-गवर्नेंस परियोजना की सफलता कितनी महत्वपूर्ण है इसका अंदाजा इस बात से लगता है कि प्रत्येक दिन राजस्व परिषद के ई-गवर्नेंस पोर्टल पर 1 करोड़ से अधिक हिट (विजिटर्स) आते हैं। अकेले गत 13 फरवरी, 2019 को पोर्टल में 5.30 करोड़ हिट प्राप्त हुए हैं।