जब हम कार्य के प्रति समर्पित होंगे तभी सक्षम बनेंगे: राजन शुक्ला
लखनऊ, 27 फरवरी।  नागरिक सुरक्षा विभाग सभी प्रकार से प्रदेश की जनता की सेवा के लिए आगे आता है। इनके कार्यों की चर्चा पूरे प्रदेश में होती है। 26 जनवरी की परेड में नागरिक सुरक्षा कोर ने जो प्रदर्शन किया वह अत्यन्त सराहनीय है। यह बात होमगार्ड्स, सैनिक कल्याण एवं नागरिक सुरक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार)  अनिल राजभर ने आज यहां चांसलर क्लब, आशियाना में आयोजित नागरिक सुरक्षा कोर, उ0प्र0 के प्रशस्ति पत्र वितरण समारोह के दौरान कही।

श्री राजभर ने कहा कि हम प्रयास करेंगे कि आगामी 26 जनवरी की परेड में हर जिले से वार्डन शामिल हों तथा परेड को जिले स्तर तक ले जाये। नागरिक सुरक्षा के लोग किसी भी टास्क को बहुत ही लगन और मेहनत से पूरा करते हैं, जिससे विभाग का नाम होता है और विभाग की छवि बनती है। राज्यमंत्री ने कहा नागरिक सुरक्षा विभाग ने अपने कार्यों से समय-समय पर अपनी सार्थकता सिद्ध की है और यही कारण है कि आज शांति व्यवस्था बनाये रखने, बचाव कार्य आदि में नागरिक सुरक्षा के वार्डन को लगाया जाता है। प्रयागराज में आयोजित कुम्भ मेले में भी सिविल डिफेंस के लोग तीर्थ यात्रियों की सेवा में लगे हैं। इनके कार्यों को देखते हुए आगामी चुनाव में दिव्यांग जनों को वोट दिलाने में मदद के लिए हर बूथ पर सिविल डिफेंस के लोगों को लगाया जायेगा।

इस अवसर पर प्रमुख सचिव नागरिक सुरक्षा राजन शुक्ला ने कहा नागरिक सुरक्षा एक ऐसा दायित्व है, जिसके कार्य करके गर्व महसूस होता है। विभाग के अधिकारी व सभी वार्डन जब लक्ष्य के प्रति समर्पित होंगे तभी सक्षमता बढ़ेगी। श्री शुक्ला ने कहा जब हम कार्य के प्रति समर्पित होंगे तभी सक्षम बनेंगे। चीफ वार्डन्स विभाग की पहचान व अपनी पहचान बनाने के लिए जिले के अधिकारियों से सम्पर्क बनाये रखें और अधिक से अधिक जनता की सेवा करें तभी विभाग की छवि बढ़ेगी। 

सिविल डिफेंस कोर, लखनऊ के विभिन्न स्तर के 43 वार्डेनों ने प्रथम बार 26 जनवरी की परेड में प्रतिभाग किया, जिनके मनोबल को बढ़ाने के लिए राज्यमंत्री अनिल राजभर द्वारा प्रशस्ति पत्र वितरित किये गये। इनमें आलोक सक्सेना, अरविन्द कुमार मिश्रा, प्रियंका दीक्षित, नफीस अहमद, शारिक सिद्दीकी, रवी बुद्ध राजा, अमर कुमार, वैभव स्वर्णकार, सुजीत कुमार भारती, हेमन्त कौशल आदि प्रतिभागियों को प्रशस्ति पत्र वितरित किया गया। कार्यक्रम में निदेशक नागरिक सुरक्षा जवाहर लाल त्रिपाठी, संयुक्त निदेशक नागरिक सुरक्षा अमिताभ ठाकुर, कोर कमाण्डर,  अमरनाथ मिश्र आदि उपस्थित थे।