लखीमपुर खीरी एवं हस्तिनापुर में किये जाने वाले कार्यों का उद्घाट
प्रदेश के वन मंत्री ने प्राणि उद्यान में 05 वन्यजीव बाड़ों का लोकार्पण तथा लुप्तप्राय परियोजना के अन्तर्गत वन्यजन्तु संग्रहालय, कतर्नियाघाट

लखनऊ,  26 फरवरी।  प्रदेश के वन एवं पर्यावरण मंत्री दारा सिंह चैहान ने कहा कि आज नवाब वाजिद अली शाह प्राणि उद्यान में 05 वन्यजीवों बाड़ों का लोकार्पण तथा लुप्तप्राय परियोजना के अन्तर्गत वन्यजन्तु संग्रहालय, कतर्नियाघाट, लखीमपुर खीरी एवं हस्तिनापुर में किये जाने वाले कार्यों का उद्घाटन किया गया। उन्होंने कहा कि प्राणि उद्यान लखनऊ बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान पर है और इस प्राणि उद्यान ने देष में अपना अलग स्थान प्राप्त किया है। यह प्राणि उद्यान 03 आई.एस.ओ. प्रमाण पत्र प्राप्त करने वाला देश का प्रथम प्राणि उद्यान है। उन्होंने कहा कि आप सभी ने प्राणि उद्यान के वन्यजीवों के साथ जो रिश्ता स्थापित किया है उससे वन्यजीवों के संरक्षण एवं संवर्धन को मजबूती मिलेगी। यह प्राणि उद्यान देश के मुख्य 05 प्राणि उद्यानों में सम्मिलित है। 

श्री चैहान ने कहा कि पिछले वर्ष वन विभाग द्वारा 09 करोड़ पौधों का रोपण सफलतापूर्वक किया गया। आने वाले समय में हमने 22 करोड़ पौधे रोपित करने का लक्ष्य रखा है जिसे हम निश्चित रूप से पूर्ण करेंगे। दुधवा में वर्श 1994 में 5 गैंडे लाये गये थे जिनकी संख्या आज बढ़कर 34-35 हो गयी है। काजीरंगा नेशनल पार्क के बाद देश में दुधवा नेशनल पार्क में बहुत तेजी से गैंडों की संख्या में वृद्धि हो रही है। लखनऊ देश का पहला ऐसा शहर है जहाँ शहर के इतने करीब कुकरैल जैसा जंगल है। इसे आकर्षक बनाने के लिए एक ऐसा कन्सलटेंट लाया जायेगा, जो पर्यावरण को नुकसान पहुंचाये बिना इसे और अधिक खूबसूरत बनाया जा सके। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि पुलवामा में हुए आतंकी हमले का बदला भी आज हमारे प्रधानमंत्री जी ने ले लिया है, इसीलिए आज का दिन एैतिहासिक दिन है। हमारा देश स्वाभिमानी देश है और हमारे प्रधानमंत्री भी स्वाभिमानी है।

 पवन कुमार, प्रधान मुख्य वन संरक्षक और विभागाध्यक्ष, उत्तर प्रदेश ने अपने सम्बोधन में कहा कि आज का कार्यक्रम एक थीम पर आधारित है। आज की थीम है क्लाइमेट इथिक्स (ब्सपउंजम म्जीपबे)। इस थीम का अर्थ है कि हम अपने पर्यावरण परिवेश को स्वच्छ एवं स्वस्थ रखें तभी हम सभी स्वस्थ एवं प्रसन्न रह सकते हैं। उन्होंने कहा कि यदि अध्यापक अच्छा होगा तो छात्रों को अच्छी शिक्षा मिलेगी और तभी देश आगे बढ़ता है। प्राणि उद्यान को क्लाइमेट इथिक्स से जोड़ा गया है। इसके लिए प्राणि उद्यान में सर्वप्रथम वाहनों के आवागमन को बन्द किया गया। आज वन मंत्री जी के वाहनों ने भी प्राणि उद्यान परिसर पर प्रवेश नहीं किया बल्कि वह स्वयं बैट्री आपरेटेड वाहन से कार्यक्रम स्थल तक पहॅंुचे।  

 वी.के. सिंह, प्रबन्ध निदेशक, उत्तर प्रदेश वन निगम ने कहा कि आज का दिन बहुत ही अविस्मरणीय है। आज रामगढ़ ताल झील को वेटलैण्ड घोशित किया गया है। उन्होंने कहा कि वन मंत्री जी का वन निगम और वन विभाग के कार्यों के लिए मार्गदर्शन मिलता रहता है।  इस अवसर पर  पवन कुमार, प्रधान मुख्य वन संरक्षक और विभागाध्यक्ष, उत्तर प्रदेश,  सुनील पाण्डेय, प्रधान मुख्य वन संरक्षक, वन्य जीव, उत्तर प्रदेश,  वी.के. सिंह, प्रबन्ध निदेशक, उत्तर प्रदेश वन निगम,  शैलेश प्रसाद, अपर प्रबन्ध निदेशक, उत्तर प्रदेश वन निगम,  आर.के. सिंह, निदेशक, नवाब वाजिद अली शाह प्राणि उद्यान, लखनऊ,  उत्कर्ष शुक्ला, उप निदेशक, नवाब वाजिद अली शाह प्राणि उद्यान, लखनऊ,  संजीव जौहरी, क्षेत्रीय वन अधिकारी, नवाब वाजिद अली षाह प्राणि उद्यान, लखनऊ, के साथ-साथ वन विभाग एवं प्राणि उद्यान के भारी संख्या में अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित थे। इसके साथ ही सहाय सिंह बालिका इण्टर कालेज, नरही, लखनऊ तथा टी.डी. गल्र्स इण्टर कालेज, गोमती नगर, लखनऊ के छात्र-छात्रायें उपस्थित थीं।