ओडीओपी के तहत अब तक 7540 करोड़ रुपये का ऋण
78084 लोगों को दिलाकर किया जा चुका लाभान्वित

लखनऊ, 26 फरवरी। आगामी 28 फरवरी को आगरा में लेदर उत्पाद, कांच उत्पाद, सुगंध उत्पाद एवं हैंडीक्राफ्ट पर आधारित ओ.डी.ओ.पी. समिट का आयोजन किया जा रहा है। इसमें 15 जनपदों के 67146 उद्यमियों के मध्य 4531.36 करोड़ रुपये का ऋण एवं निःशुल्क टूलकिट का वितरण किया जायेगा। समिट के मुख्य आकर्षण-ऋण वितरण मेगा कैम्प, तकनीकी सत्र, बायर्स सेलर मीट तथा एक जनपद - एक उत्पाद प्रदर्शनी-होंगे। समिट के माध्यम से लघु उद्यमी व हस्तशिल्पी एक दूसरे के विचारों से अवगत हो सकेेगे और विशेषज्ञों से अत्याधुनिक तकनीक के बारे में विस्तार से जानकारी हासिल कर सकेंगे ।    

यह जानकारी उत्तर प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री सत्यदेव पचैरी ने आज यहां दी। आगरा में समिट का आयोजन पूर्वान्ह 11 बजे से सींगना स्थित आगरा ट्रेड सेन्टर, में होगा। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पारम्परिक उद्योगो को बढ़ावा देने एवं नवीन रोजगार के अवसर सृजित करने के उद्देश्य से राज्य सरकार द्वारा ’’एक जनपद एक उत्पाद’’ नाम से एक महत्वाकाॅक्षी योजना प्रारम्भ की गयी है। इसको मूर्तरूप देने के लिए राज्य के सभी मण्डलों में ओ.डी.ओ.पी. समिट का आयोजन करके लोगों को ऋण एवं निःशुल्क टूलकिट उपलब्ध कराये जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि आगरा में आयोजित होने वाली ओडीओपी समिट में आगरा सहित फिरोजबाद, सम्भल, जालौन, झांसी, लखीमपुर खीरी, श्रावस्ती, कुशीनगर, देवरिया, कानपुर, बांदा, महोबा, हमीरपुर, कन्नौज तथा फतेहपुर जिले शामिल हैं।

लघु उद्योग मंत्री ने बताया कि सरकार द्वारा इस योजना हेतु वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए 250 करोड़ रुपये का बजट में प्राविधान किया गया है। योजनान्तर्गत प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, स्टैण्ड-अप इण्डिया योजना, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना एवं प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत अब तक 7540 करोड़ रुपये का ऋण 78084 लोगों को दिलाकर लाभान्वित किया गया है। उन्होंने बताया कि  10 अगस्त, .2018 को लखनऊ में ओ.डी.ओ.पी. समिट का आयोजन किया गया, जिसमें विभाग द्वारा संचालित योजनाओं के तहत 1006.94 करोड़ रुपये के ऋण 4095 लाभार्थियों में वितरित किये गये। इसी कड़ी में लखनऊ के अवध शिल्पग्राम में एक जनपद एक उत्पाद के अन्तर्गत चिकनकारी-जरी जरदोजी प्रदर्शनी में 1010.64 करोड़ का ऋण 11755 हस्तशिल्पियों में वितरित किये गये।

श्री पचैरी ने बताया कि मुरादाबाद में धातु शिल्प थीम पर आयोजित ओ.डी.ओ.पी.0 समिट में 1230.21 करोड़ रुपये का ऋण वितरण 7376 लाभार्थियों में किया गया। वाराणसी में फैब्रिक्स, सूत, दरी, कालीन उद्योग पर आधारित समिट में 2105.04 करोड़ रुपये का ऋण वितरण 34431 लाभार्थिंयों में किया गया। इसी प्रकार गोरखपुर में टेराकोटा, पाटरी व खाद्य प्रसंस्करण उद्योग को बढ़ावा देने लिए वृहद स्तर पर समिट का आयोजन करके 2188 करोड़ रुपये का ऋण वितरण 20427 लाभार्थिंयों में किया गया।