Surgical Strike2 के बाद पाकिस्तान में खलबली मची हुई है। भारत की इस दूसरी सर्जिकल स्ट्राइक से पाकिस्तान में भारी तबाही की खबरें आ रही हैं।...

Surgical Strike2 के बाद पाकिस्तान में खलबली मची हुई है। भारत की इस दूसरी सर्जिकल स्ट्राइक से पाकिस्तान में भारी तबाही की खबरें आ रही हैं।...


नई दिल्ली । पुलवामा आंतकी हमले (Pulwama Terror Attack) के बाद पाकिस्तान पर एक और सर्जिकल स्ट्राइक (Surgical Strike2) के बाद सीमा पार खलबली मची हुई है। भारत की हर कार्रवाई का जवाब देने के लिए तैयार होने का दावा करने वाले पाकिस्तान को इस हमले के बाद कुछ समझ नहीं आ रहा है। भारत की Air Strike का आंकलन करने और आगे की रणनीति तय करने के लिए पाकिस्तान ने आपात बैठक बुलाई है।



भारत की सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने आपात बैठक बुली है। इस बैठक में पाकिस्तान भारत द्वारा किए गए दूसरे सर्जिकल स्ट्राइक का आंकलन करेगा। ये भी अनुमान लगाया जा रहा है कि इस बैठक में पाकिस्तान, भारत की सर्जिकल स्ट्राइक का जवाब देने के लिए रणनीति बनाने पर भी चर्चा करेगा। लिहाजा सर्जिकल स्ट्राइक के बाद भारतीय सेनाओं और सीमा पर तैनात अर्धसैनिक बलों को हाई अलर्ट पर रखा गया है।


पाकिस्तान विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने इस्लामाबाद स्थिति विदेश मंत्रालय में आपात बैठक बुलाई है। बैठक में पूर्व सचिव और राजनयिक के अलावा सेनाओं के अधिकारी मौजूद रहेंगे। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इस हमले में 200 से ज्यादा आतंकियों के मारे जाने की उम्मीद जताई जा रही है। हालांकि, हमले से हुई तबाही की अब तक आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।


इस हमले के बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने भारत को चेतावनी दी है। उन्होंने भारत को चेतावनी देते हुए कहा है कि भारत पाकिस्तान को चुनौती न दे। उन्होंने कहा कि भारत को समझदारी से काम लेना चाहिए। साथ ही उन्होंने अपने देशवासियों से कहा है कि उन्हें भारतीय कार्रवाई से चिंतित होने की जरूरत नहीं है। उन्होंने एक बार फिर दावा किया है कि पाकिस्तानी सेना हर हमले का जवाब देने के लिए पूरी तरह से मुस्तैद है।


अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए किरकिरी करा चुके पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने दावा किया कि हम (पाकिस्तान) एक अमन पसंद मुल्क है। साथ ही हमने युद्ध और आतंकवाद से निपटने में हमेशा कामयाबी हासिल की है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने अपने जवानों के बलिदान के परिणाम स्वरूप देश में शांति स्थापित की है। हम हर हाल में इस शांति को कायम रखना चाहते हैं, लेकिन हमारी सेनाएं भी हर हमले से निपटने में सक्षम हैं।