विशेष प्रवर्तन अभियान चलाकर 463 व्यक्तियों को भेजा गया जेल
लखनऊ, 11 फरवरी। उत्तर प्रदेश सरकार ने एक विशेष प्रवर्तन अभियान चलाकर पूरे प्रदेश में अब तक छापेमारी करके 1304 अभियोग दर्ज किये हैं। इस छापेमारी में 611052 ब0ली0 अवैध मदिरा तथा  392275 किग्रा0 लहन बरामद की गयी। इसके साथ ही 463 व्यक्तियों को गिरफ्तार करके जेल भेजा गया। आबकारी विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार जनपद कुशीनगर तथा सहारनपुर में हुई इन घटनाओं की समग्र जांच हेतु शासन द्वारा विशेष अनुसंधान दल (एस0आई0टी0) का गठन किया गया है। यह दल प्रभावी क्षेत्रांे का भ्रमण कर पीड़ित परिवारों से सम्पर्क कर घटना के विरूद्ध कारण का पता लगायेगा। यह दल छान-बीन करके इन घटनों को बतायेगा कि इसमें कौन लोग हैं। जोन स्तर पर संयुक्त आबकारी आयुक्त, जोन्स तथा प्रभार स्तर पर उप आबकारी आयुक्त, प्रभार को इस प्रवर्तन अभियान का नेतृत्व करने हेतु निर्देश दिया गया है। उनसे अपेक्षा की गयी है कि अवैध स्त्रोंतों को शत्-प्रतिशत समूल नष्ट कर दिया जाये। प्रवर्तन अभियान को किसी भी स्थिति में कनिष्ठ अधिकायिों के ऊपर नहीं छोड़ा जाना चाहिये। इस प्रवर्तन अभियान में किसी भी कार्मिक को अवकाश देय नहीं होगा। मण्डलायुक्तों को भी अपने निर्देशन में प्रवर्तन कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया है। 

उल्लेखनीय है कि माह जनवरी 2019 के अन्त तक कुल 302789 छापे सम्पूर्ण प्रदेश में मारे गये, जिसमें 573589 ब0ली0 कच्ची शराब, 391994 ब0ली0 अवैध देशी शराब तथा 640415 अवैध विदेशी मदिरा जब्त की गयी। इस कार्यवाही मंे कुल 31831 अभियोगो को पंजीकृत करके 10997 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया, जिसमें से 2467 व्यक्तियों को जेल भेजा गया। इसके अतिरिक्त आबकारी अधिनियम में दण्ड के प्रावधानों को अधिक कठोर बनाया गया, जिसके अन्तर्गत मृत्युदण्ड व आजीवन कारावास तक का भी प्रावधान किया गया है। अल्कोहल की चोरी न रोक पाने के लिए उत्तरदायी 03 ट्रान्सपोर्टरों को अल्कोहल का परिवहन करने से निषेधित किया गया।