राष्ट्रीय लोक अदालत में 6796 वादों का निस्तारण
 

कुल 119666462 रु0 की धनराशि समझौता एवं जुर्माने के रूप में वसूली गयी

लखनऊ,09 मार्च,। जनपद न्यायालय लखनऊ में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया, जिसमें माननीय जनपद न्यायाधीश सुरेन्द्र कुमार यादव द्वारा सिविल कोर्ट परिसर का निरीक्षण किया गया। उनके द्वारा आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। राष्ट्रीय लोक अदालत पर बड़ी संख्या में वादकारियों ने अपने मुकदमों के त्वरित निस्तारण के लिये गरमजोशी से हिस्सा लिया। यह जानकारी सिविल जज सीनियर डिवीजन रीमा मल्होत्रा ने देते हुए बताया कि आज सम्पन्न हुई लोक अदालत में जनपद न्यायालय लखनऊ में लगभग 15099 वाद नियत किये गये, जिसमें से कुल 5374 वादों का निस्तारण किया गया। राष्ट्रीय लोक अदालत में चेक बाउन्स केसेज, बैक रिकवरी केसेज, अपराधिक शमनीय वाद, वैवाहिक वाद, मोटर एक्सीडेंट क्लेम पिटीशन वाद, किरायेदारी वाद, सुखाधिकार, व्यादेश, उत्तराधिकार आदि दीवानी वादों का भी निस्तारण किया गया, और कुल 92202447/- रूपये की धनराशि जुर्माने व समझौता राशि के सम्बन्ध में आदेश किया गया। इसके अतिरिक्त बैंक वसूली व फाइनेन्स के प्री-लिटिगेशन स्तर पर 1422 वादों का जनपद न्यायालय में निस्तारण किया गया, जिनके समझौता राशि 27464015/- रुपये है। 

सिविल जज सीनियर डिवीजन ने बताया कि इस प्रकार जनपद लखनऊ में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में आज दिनांक 09.03.2019 को कुल 6796 मुकदमें निस्तारित हुये और जिनकी समझौता व जुर्माना राशि 119666462/- रुपये है।