मरते दम तक जारी रखूंगी लड़ाई: हसीन

क्रिकेटर मोहम्मद शमी की बीवी हसीन जहां मंगलवार को बरेली पहुंची। मेरा हक फाउंडेशन की अध्यक्ष फरहत नकवी से मिलकर उसने शौहर और अमरोहा पुलिस के खिलाफ लड़ाई लड़ने में मदद मांगी। हसीन जहां ने कहा कि महिला का उत्पीड़न करने वालों के खिलाफ लड़ाई जारी रखूंगी, इसके लिए मुझे मरना पड़े तो भी तैयार हूं। उन्होंने कहा कि अमरोहा पुलिस ने मेरे साथ जुल्म किए हैं। इसकी सजा जब तक उन्हें नहीं मिलेगी सुकून से नहीं बैठूंगी। विश्व कप क्रिकेट की तैयारी करने के साथ आईपीएल में किंग्स इलेवन पंजाब से खेल रहे मुहम्मद शमी की बीवी हसीन जहां मंगलवार की शाम बरेली मेरा हक फाउंडेशन की अध्यक्ष फरहत नकवी से मिलने पहुंची। मोहल्ला गढ़ैया स्थित नकवी हाउस में हसीन जहां ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि पुलिस ने मेरे ही घर से मुझे बाहर निकाल कर मोबाइल छीन लिया। मेरे खिलाफ मुकदमा दायर किया। मुझे परेशान किया गया और धमकी तक दी गई। रात के वक्त मुझे थाना में बैठाए रखा। मेरी बच्ची रोती रही लेकिन पुलिस वालों को रहम नहीं आया। हसीन जहां ने कहा कि शमी खिलाड़ी होकर सियासत कर पुलिस पर दबाव बना रहा है। जुल्म करने वालों के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखूंगी। इसके लिए मेरी जान भी चली जाए तो भी तैयार हूं। हसीन जहां ने कहा कि मेरा हक फाउंडेशन की अध्यक्ष फरहत नकवी से अपने केस में पैरवी करने के लिए मदद मांगी है। मुझे उम्मीद है कि मुझे इंसाफ दिलाने के लिए मेरा हक फाउंडेशन मेरी मदद करेगा।  मेरा हक फाउंडेशन की अध्यक्ष फरहत नकवी का कहना है कि हसीन जहां ने अपनी आपबीती सुनाई है। उसने जो सबूत दिखाए हैं, उसको देखकर लग रहा है कि मुहम्मद शमी खुद जिम्मेदार हैं। हसीन जहां अपने हक की लड़ाई लड़ रही है। बेटी के लिए मां का फर्ज अदा कर रही है। उसे प्रशासन परेशान कर रहा है। मुहम्मद शमी एक सेलिब्रिटी हैं, वो अपने पावर का इस्तेमाल कर रहे हैं। एक महिला का उत्पीड़न किया जा रहा है। हमारे संगठन से जुड़ी पीड़िताएं हसीन जहां का साथ देंगी। दोषियों को सजा मिले इसके लिए लड़ाई लड़ी जाएगी।