चुनाव में कांग्रेस का प्रदर्शन बहुत खराब रहा

लखनऊ। भाजपा की विजय का सिलसिला पहले चरण से ही शुरू हो गया था। हर चरण में उसने सीधी लड़ाई में गठबंधन के दलों को मात देते हुए अपनी भारी बढ़त बनाए रखी। चौथे चरण में पहुंच कर भाजपा ने सभी 13 सीटों शाहजहांपुर, खीरी, हरदोई सुरक्षित, मिश्रिख सुरक्षित, उन्नाव, फर्रूखाबाद, इटावा सुरक्षित, कन्नौज, कानपुर, अकबरपुर, जालौन सुरक्षित, झांसी व हमीरपुर पर विजय पताका फहराई। चौथे चरण में ही सपा के जबरदस्त प्रभाव वाली कन्नौज व इटावा सीट भी थी, लेकिन इन दोनों सीटों पर भी वह भाजपा के आगे नहीं टिक पाई। कन्नौज से तो स्वयं सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की पत्नी और पार्टी की स्टार प्रचारक डिम्पल यादव ही प्रत्याशी थीं।
प्रचंड मोदी लहर पर सवार भाजपा का प्रदर्शन वैसे तो सभी सात चरणों में बेहतर रहा लेकिन चौथे व पांचवें चरण का चुनाव उसके लिए बेहद खास रहा। भाजपा ने चौथे चरण की सभी 13 सीटों पर कब्जा जमाया तो पांचवें चरण की 14 में से 13 सीटें जीतने में सफल रही। केवल तीसरा चरण ही ऐसा रहा, जिसमें सपा उसका मुकाबला करती दिखी और चार सीटें जीतने में सफल रही।
इसी तरह सातवां और अंतिम चरण भी भाजपा व उसके सहयोगी दल अपना दल (सोनेलाल) के लिए काफी अच्छा रहा। इस चरण में भाजपा व उसके सहयोगी दल ने 13 में से 11 सीटें जीतीं। केवल दो सीटों पर बसपा विजयी रहे। गाजीपुर व घोसी की सीट उसके खाते में गईं।
तीसरे चरण में सपा ने सबसे ज्यादा चार सीटें जीतीं। इसमें मुरादाबाद, रामपुर, संभल व मैनपुरी शामिल है। मैनपुरी से स्वयं सपा के संरक्षक एवं पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिह यादव ही प्रत्याशी थे। यहां मुस्लिम बहुल सीटों पर ही सपा को लाभ मिला। तीसरे चरण की शेष 6 सीटों पर भाजपा ने जीत दर्ज की। भाजपा ने फिरोजाबाद, एटा, बदायूं, आंवला, बरेली व पीलीभीत सीट पर कब्जा जमाया। बरेली से केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार प्रत्याशी थे तो पीलीभीत से वरुण गांधी।
पहले चरण में भाजपा ने 8 में 6, दूसरे चरण में 8 में 6 तथा छठें चरण में 14 में से 9 सीटों पर कब्जा जमाया। पहले व दूसरे चरण में बसपा 2-2 सीटें जीतने में सफल रही। छठें चरण में बसपा ने 4 व सपा ने एक सीट पर जीत दर्ज की। इस तरह छठां चरण बसपा के लिए और तीसरा चरण सपा के लिए अपेक्षाकृत राहत भरा रहा। चुनाव में कांग्रेस का प्रदर्शन बहुत खराब रहा। उसे केवल एक सीट हासिल हो सकी।
प्रथम चरण: भाजपा-6, बसपा-2
दूसरा चरण: भाजपा-6, बसपा-2
तीसरा चरण: भाजपा-6, सपा-4
चौथा चरण: भाजपा-13
पांचवां चरण: भाजपा-13, कांग्रेस-1
छठवां चरण: भाजपा-9, बसपा-4, सपा-1
सातवां चरण: भाजपा-9, अपना दल (एस)-2, बसपा-2
राजनीतिक दलों को हासिल कुल सीट: भाजपा-62, अपना दल (एस)-2, बसपा-1०, सपा-5, कांग्रेस-1