देश के विकास में व्यापारी समाज का महत्वपूर्ण योगदान : महापौर

व्यापारियों ने अपने व्यापार के साथ ही समाजसेवा एवं जनसेवा का कार्य भी बड़ी ही जिम्मेदारी के साथ निभाया है। चाहे वह निर्धन एवं समाज के वंचितों की शिक्षा का क्षेत्र हो, नि:शक्तों एवं जरूरतमंद रोगियों की चिकित्सा का क्षेत्र हो। इन कार्यो में व्यापारी वर्ग बढ़-चढ़ कर भाग लेता है। यह बातें लखनऊ की महापौर संयुक्ता भाटिया ने अमीनाबाद चौराहे पर शहीद व्यापारी स्व० हरिश्चंद्र अग्रवाल की स्मृति में अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मण्डल द्बारा आयोजित कार्यक्रम में कही। महापौर ने कहा कि व्यापारी समाज ने देश के विकास में हमेशा रीढ़ की हड्डी की तरह योगदान दिया है। अनाथालय एवं धर्मशालाओं के निर्माण में भी व्यापारी समाज ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। महापौर ने स्व. हरिश्चंद्र अग्रवाल की प्रतिमा पर पुष्प सुमन अर्पित कर उनको नमन किया। संयुक्ता भाटिया एवं अखिल भारतीय व्यापार मण्डल के अध्यक्ष संदीप बंसल ने स्व. हरिशचंद्र अग्रवाल की पत्नी गीता देवी को स्मृति चिन्ह प्रदान कर उनका सम्मान किया। महापौर ने स्व. हरिश्चंद्र अग्रवाल के बेटों अनीश अग्रवाल एवं आशीष अग्रवाल को भी सम्मानित किया। अध्यक्ष संदीप बंसल ने बताया कि 1979 में व्यापारियों के हितों के लिये संघर्ष करते हुए स्व. हरिश्चन्द्र अग्रवाल की पुलिसकर्मी द्बारा चलाई गई गोली से हत्या हो गयी थी। सामाजिक सरोकारों के दायित्व को जिम्मेदारीपूर्वक निभाने वाले व्यापरियों को महापौर ने माल्यार्पण कर एवं मोमेंटो प्रदान कर सम्मनित किया। सम्मानित होने वाले व्यापारियों में डण्डइया बाजार से दुर्गेश गुप्ता, नाका से कमल गुलाटी, तेलीबाग से नूरुल हुदा, पतञ्जलि सिह, मुकेश कुमार यादव,चिनहट से नीरज गुप्ता, इंदिरानगर से निशीथ श्रीवास्तव, अश्वन वर्मा, संजय सोनकर, राममोहन अग्रवाल, राजीव अरोड़ा, कंचना बिहारी मार्ग से जितेंद्र टंडन, चारबाग से पीयूष गुप्ता, नजीराबाद से अनुज गौतम, गुइन रोड से एकता अग्रवाल, नगीना मार्केट से विजय गुप्ता,लाल कुआं से लाल बहादुर जोरिया, मानक नगर से दीपक शर्मा प्रमुख रहे।