एसएचओ के खिलाफ जांच का आदेश

प्रयागराज, । इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने एसएचओ झूंसी, प्रयागराज के खिलाफ जांच करने का एसएसपी को आदेश दिया है और जांच पूरी होने तक उन्हें पुलिस लाइन से सम्बद्ध करने को कहा है। कोर्ट ने यह कड़ा कदम एसएचओ द्बारा बिना अधिकार के निषेधाज्ञा के बावजूद याची के जमीन पर निर्माण कराने और कोर्ट में गलत जानकारी देने के कारण उठाया है। भूमि विवाद पर कोर्ट ने दोनों पक्षों को न्यायिक प्रक्रिया के तहत कार्यवाही करने को कहा है और याचिका निस्तारित कर दी है। कोर्ट ने एसएसपी को जांचकर एसएचओ पर कार्यवाही करने तथा जांच रिपोर्ट महानिबंधक के समक्ष पेश करने का निर्देश दिया है। यह आदेश न्यायमूर्ति शशिकांत गुप्ता तथा न्यायमूर्ति पंकज भाटिया की खंडपीठ ने झूंसी की कनकलता कुशवाहा की याचिका पर दिया है। गौरतलब है कि याची की जमीन का विवाद चल रहा है। अधीनस्थ न्यायालय से निषेधाज्ञा जारी है। इसके बावजूद एसएचओ ने विपक्षी को विवादित भूमि पर निर्माण करने में मदद कर रहा है। कोर्ट ने एसएचओ को तलब किया। नहीं आने पर कोर्ट ने जमानती वारंट जारी कर पेश होने का आदेश दिया। हाजिर होकर एसएचओ ने कोर्ट को बताया कि कोर्ट का आदेश मिला था, वह छुट्टी पर था। जब कि सरकारी वकील ने बताया कि एसएचओ को फोन कर कोर्ट आदेश की जानकारी दी थी। इसके बावजूद कोर्ट को गलत जानकारी देकर गुमराह कर रहे है। जिसे कोर्ट ने गम्भीरता से लिया और एसएचओ के रवैये की जांच कर कार्यवाई करने का निर्देश दिया है।