हम नया प्रधानमंत्री देकर नया भारत बनाएंगे : अखिलेश

मिर्ज़ापुर । मिर्ज़ापुर में अखिलेश ने कहा कि संविधान से जो हक हम लोगों को मिलता था, उस हक को भी छीनने का काम इस सरकार ने किया है। नौकरी और पढ़ाई का इंतजाम भी अब नहीं हो पा रहा है। अनुप्रिया पर निशाना साधते हुए बिना उनका नाम लिये कहा कि यहां की मंत्री और प्रधानमंत्री ने हम लोगों से अधिकारों को छीनने का काम किया है।
गठबंधन की रैली को संबोधित करते हुए शुक्रवार को सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि संविधान में हम पिछड़ों को जो अधिकार मिला था, उसे छीनने का काम भाजपा सरकार ने किया है। यह चुनाव देश और लोकतंत्र बचाने का चुनाव है। जो आरक्षण हमें आगे बढ़ा रहा था, उसे बचाने का चुनाव है। अखिलेश ने आरोप लगाया कि भाजपा ने तय कर लिया है कि सरकार बनेगी तो आरक्षण खत्म कर देंगे।
अखिलेश ने कहा कि पांच साल दिल्ली और दो साल यूपी की सरकार के शासन में कोई वर्ग ऐसा नहीं रहा जो परेशान न हो। इस सरकार ने सभी को धोखा दिया है। झूठ बोलकर आपसे समर्थन लिया था। न अच्छे दिन आए, न काला धन आया। नौजवान बेरोजगार होकर बैठे हैं। माताएं बहनों को पेंशन मिल रही थी, उसे भी छीन लिया। चाहे व्यापारी हों या छोटा मोटा काम करने वाले लोग, सभी को भरोसा दिलाया कि नोटबंदी के बाद आपके एकाउंट में पैसा पहुंच जाएगा। नोटबंदी के बहाने धोखा दिया। कहा था कि नोटबंदी से आतंकवाद खत्म हो जाएगा। लेकिन आतंकवाद और नक्सलवाद से हमारे जवान शहीद हो रहे हैं। ये लोग आतंकवाद खत्म करने की बात करते हैं लेकिन बनारस में एक जवान से डर गए। वह जवान चुनाव लड़ना चाहता था लेकिन नहीं लड़ने दिया। हमारी फौज को बुलेट ट्रेन नहीं बुलेट प्रूफ जैकेट चाहिए।
अखिलेश ने कहा कि पहले चाय वाला बनकर आए थे, अब धोखा देने के लिए चौकीदार बन कर आए हैं। 1०० नंबर की सुविधा खराब कर दी। 1०2, 1०8 एम्बुलेंस खराब कर दी। थाने वाली बुराई 1०० नंबर में लाने का काम किया। अखिलेश ने कहा कि यह गठबंधन टूटेगा नहीं, आपकी दोनों सरकारों का सफाया करेगा। भाजपा कहती है कि नया भारत बनेगा। हम नया प्रधानमंत्री देकर नया भारत बनाएंगे।
अखिलेश ने कहा कि यह लोग जानवर पर राजनीति करते हैं। इनकी सरकार में जानवर भी दुखी हैं। भरोसा दिलाया था कि जानवरों के लिए इंतजाम करेंगे। किसान को चौकीदार बनकर अपनी फसल की रखवाली करनी पड़ रही है। किसान को लागत का डेढ़ गुना मुनाफा नहीं मिल सका। जो खाद खरीदता था उसमें से पांच किलो चोरी हो गई। गैस चूल्हा और सिलेंडर दिया लेकिन उसके दाम बढ़ा दिये। जिस घर में चूल्हा और सिलेंडर पहुंचा, वह लोग दोबारा भरवा नहीं सके।
अखिलेश ने कहा कि आने वाले समय में लोहिया आवास की तरह और बेहतर आवास का इंतजाम आने वाली सरकार करेगी। हमारी कथनी और करनी में कोई अंतर नहीं है। प्रधानमंत्री जो कहते हैं, उसका उल्टा करते हैं। उनके भाषण से लग रहा है कि उनकी सरकार जा रही है।
अखिलेश ने कहा कि नोटबंदी से जीएसटी से देश पीछे जा रहा है। देश पर जो कर्ज 35 लाख करोड था, अब बढ़कर 7० लाख करोड़ हो गया। यह 35 लाख करोड़ किन लोगों को दिया। अगर किसान, गरीब और गांवों में नहीं पहुंचा तो किसके पास चला गया। नोटबंदी के समय बताया था कि काला धन आएगा। लेकिन आपका पैसा लेकर वही लोग विदेश चले गए।