कूड़े की चिगारी से दलित बस्ती में लगी आग, डेढ़ दर्जन झोपड़ियां जलीं

जौनपुर, । गौराबादशाहपुर थाना क्षेत्र के नयनसड गांव में रविवार दोपहर उस समय अफरा-तफरी मच गई जब कूड़े में फेंकी गई चूल्हे की राख की चिगारी से दलित बस्ती में आग लग गई। आग लगने के कारण लगभग डेढ़ दर्जन छप्परों से बने घर उसकी चपेट में आ गए और जलकर राख हो गए। आग बुझाने के प्रयास में कई ग्रामीण भी झुल गए, जिन्हें उपचार के लिए जिला चिकित्सालय भिजवाया गया। कई महिलाएं अपना आशियाना जलता देखकर मौके पर बेहोश हो गईं। आग लगने की वजह से घर में रखा एक गैस सिलेंडर फट गया। जिससे हालात और बिगड़ गए। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे दमकल कर्मियों ने ग्रामीणों की मदद से काफी मशक्कत के साथ आग पर काबू पाया। गांव के मुनीब (55) ने बताया कि उसकी तीन झोपड़ियां, छह बकरियां, एक गाय और सब गृहस्थी का सामान जल गया। जबकि मुनीब उसकी पत्नी निर्मला (44), पुत्री हेमलता (2०) झुलस गयीं। सर्वेश कुमार (29) भी आग से झुलस गया। वहीं राम लखन, तेजु, फिरन्ति, साहू, विनोद, मेवालाल, जदुनाथ, हरिनाथ, सुनीता, हरिलाल की झोपड़ियां और घर का सारा सामान जल गया। घटना की जानकारी मिलते ही नायाब तहसीलदार मान्धाता सिह क्षेत्राधिकारी रामभुवन व थानाध्यक्ष ने मौके पर पहुंचकर नुकसान का आंकलन किया। तहसीलदार मांधाता सिह ने बताया कि ग्रामीणों नुकसान का आकलन करके शासन द्बारा जो भी संभव सहायता होगी प्रदान की जाएगी। आग लगने से कितना नुकसान हुआ है, इसके लिए लेखपाल के माध्यम से जानकारी एकत्रित की जा रही है।