प्रदेश की जनता समाजवादी सरकार में हुए विकास कार्यां को याद कर रही है -राजेन्द्र चौधरी

लखनऊ, । भाजपा की केन्द्र और राज्य सरकारों की दोषपूर्ण नीतियों से जनता आक्रोशित है। जीएसटी-नोटबंदी ने घरेलू अर्थव्यवस्था को चौपट कर दिया है। इसलिए अंतिम चरण में होने जा रहे मतदान में मतदाताओं ने महागठबन्धन के पक्ष में मन बना लिया है। यह बातें समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने शनिवार को जारी बयान में कही। 

उन्होंने कहा कि बुनियादी समस्याओं को दूर करने में भाजपा सरकार की उदासीनता से जनता परेशान है। प्रदेश की जनता समाजवादी सरकार में हुए विकास कार्यां को याद कर रही है। श्री चौधरी ने कहा है कि 19 मई 2019 को लोकसभा चुनाव-2019 के सातवें और अंतिम चरण का मतदान होना है। सत्तादल द्वारा सरकारी तंत्र के दुरूपयोग की तमाम शिकायतों के बावजूद प्रदेश के मतदाताओं ने विगत छह चरणों के मतदान में समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और रालोद गठबन्धन के प्रति अपना विश्वास जताते हुए उसके पक्ष में भारी मतदान कर नया रिकार्ड बनाया है। हमें भरोसा है कि रविवार के मतदान में भी मतदाता गठबन्धन को पूर्ववत अपना समर्थन-सहयोग देगें।  सत्तादल ने अपनी अहंकार में जनभावनाओं की उपेक्षा करते हुए बहकाने-भटकाने वाले मुद्दों को तरजीह दी जबकि गठबन्धन ने गरीबी, बेकारी के साथ किसानों, नौजवानों और समाज के वंचित वर्ग की आवाज पुरजोर तरीके से उठाई।    सपा प्रवक्ता ने कहा कि देश में संवैधानिक संस्थाओं की गिरती विश्वसनीयता, संविधान द्वारा दिये गए अधिकारों की कटौती, दलितों, पिछड़ां, अल्पसंख्यकों, महिलाओं सहित समाज के कमजोर वर्गों पर हो रहे अत्याचारों से त्रस्त जनता का पूरा सहयोग महागठबन्धन को मिल रहा है।   श्री चौधरी ने कहा कि जनता अब अपनी जिंदगी संवारना चाहती है, उसे जुमलों की दुनिया में भ्रमित होना पसंद नहीं। भाजपा को सत्ता से बेदखल करके ही दम लेगी।