सातवें चरण के रण में गलियों और चौराहों पर दिख रहे मंत्री

लखनऊ । प्रदेश में आखिरी चरण के चुनावी जंग का केंद्र बिदू अब वाराणसी बन गया है। सभी प्रमुख दल वाराणसी को केंद्र में रखकर इस चरण की सीटों पर प्रचार का अभियान आगे बढ़ा रहे हैं। मतदान से पूर्व के चार दिनों में वाराणसी की चुनावी गतिविधियों पर समूचे देश की नजरें रहेंगी। 15 मई को प्रियंका गांधी वाड्रा वाराणसी में मेगा रोड-शो करेंगी तो 16 मई से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र में डेरा डालने की तैयारी में हैं। 16 मई को ही वाराणसी में गठबंधन की संयुक्त रैली भी है। प्रदेश में सातवें चरण की ये सीटें भाजपा के लिए काफी अहम हैं। इस चरण की सभी सीटों पर 2०14 में भाजपा को विजय हासिल हुई थी। इससे पूर्व भाजपा को कभी इस क्षेत्र में इकतरफा जीत नहीं हासिल हुई थी। इनमें से कुछ सीटें ऐसी भी हैं जिन्हें सपा, बसपा के दुर्ग के रूप में पूर्व में देखा जाता रहा है। वहीं कमलापति त्रिपाठी, कल्पनाथ राय के राजनीतिक दौर में इस क्षेत्र में कांग्रेस का वर्चस्व हुआ करता था। वाराणसी की गलियों और चौराहों पर इस समय सभी प्रमुख दलों के कद्दावार नेता दिख रहे हैं। कांग्रेस के भी कई नेता वाराणसी में घूम रहे हैं। भाजपा के केंद्रीय और प्रदेश सरकार के कई मंत्री वाराणसी की गलियों और चौराहों पर लोगों को अधिक से अधिक मतदान के लिए प्रेरित करते नजर आ रहे हैं। 15 मई को वाराणसी में प्रस्तावित प्रियंका गांधी वाड्रा के रोड-शो की तैयारी में पूर्वांचल के कांग्रेसी जुटे हुए हैं। नामांकन से एक दिन पूर्व पीएम नरेंद्र मोदी द्बारा किए गए रोड-शो के रूट पर ही प्रियंका गांधी का रोड-शो रखा गया है। अंतर सिर्फ इतना रहेगा कि गोदौलिया से आगे बढ़कर चौक थाने तक उनका काफिला जाएगा। प्रियंका गांधी वाड्रा श्रीकाशी विश्वनाथ का दर्शन पूजन भी कर सकती हैं। बता दें कि पीएम मोदी गोदौलिया से दशाश्वमेध घाट गए थे। प्रियंका गांधी वाड्रा के रोड-शो के दूसरे दिन यानी 16 मई से 19 मई तक पीएम नरेंद्र मोदी भी वाराणसी में नजर आ सकते हैं। सूत्र बताते हैं कि उनके वाराणसी प्रवास के कार्यक्रम तय किए जा रहे हैं। 16 मई को चंदौली और मिर्ज़ापुर में चुनावी सभा के पश्चात मोदी वाराणसी चले जाएंगे, वहां रात्रि विश्राम करेंगे। सातवें चरण के प्रचार के अंतिम दिन यानी 17 मई को वह फिर से वाराणसी की जनता के बीच नजर आ सकते हैं। भाजपा का फोकस मोदी की मौजूदगी के माध्यम से वाराणसी और आसपास की सीटों पर मतदान फीसदी बढ़ाने की है। 19 मई को मतदान के दिन भी मोदी अपने संसदीय क्षेत्र में रह सकते हैं। वहीं भाजपा अध्यक्ष अमित शाह सोमवार की शाम को वाराणसी पहुंच गए। वह मंगलवार को देश के दूसरे हिस्सों में जाएंगे, बुधवार को फिर वाराणसी लौटेंगे। भाजपा नेता बताते हैं कि अमित शाह वाराणसी से ही अपने तय कार्यक्रमों में जाएंगे और फिर लौट आएंगे। वहीं सपा-बसपा-रालोद गठबंधन की संयुक्त चुनावी रैली वाराणसी के सीर गोवर्धन में 16 को प्रस्तावित है। इस रैली को मायावती, अखिलेश यादव और चौधरी अजित सिह संबोधित करेंगे। 17 अप्रैल को वाराणसी की पड़ोसी सीट चंदौली में गठबंधन की रैली प्रस्तावित है।