शांतिभंग की आशंका में यूपी में 22 लाख लोग पाबंद

प्रदेश में लोकसभा चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से कराने के लिए केंद्रीय निर्वाचन आयोग ने सुरक्षा प्रबंधों के मोर्चे पर जबरदस्त तैयारी कराई। अकेले यूपी में 22 लाख से ज्यादा लोग शांतिभंग की आशंका में पाबंद किए गए। मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल. वेंकटेश्वर लू ने बताया कि कानून-व्यवस्था के तहत अब तक 8,94,००4 लाइसेंसी शस्त्र जमा कराए गए हैं। साथ ही 1००3 लोगों के लाइसेंस निरस्त किए गए हैं। इसके अलावा निरोधात्मक कार्रवाई के तहत 22,०3,69० लोगों को पाबंद किया गया है और 34,354 लोगों पर गैर जमानती वारंट का तामीला कराया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अब तक 7368.3 किलोग्राम विस्फोटक सामग्री, 13,9०० कारतूस और 4,224 बम बरामद किए गए हैं।  उन्होंने बताया कि चुनाव आयोग के निर्देश पर पूरे प्रदेश में आदर्श आचार संहिता के अनुपालन में प्रचार सामग्रियों को हटाने के लिए चलाए जा रहे अभियान के तहत अब तक कुल 66,35,891 वाल राइटिग, पोस्टर्स व बैनर्स आदि सार्वजनिक एवं निजी स्थानों से या तो हटा दिए गए हैं या ढक दिए गए हैं।  इसमें जिला प्रशासन द्बारा अब तक सार्वजनिक स्थानों से वाल राइटिग के 3,35,०99, पोस्टर्स के 28,०8,348, बैनर्स के 9,34,912 तथा अन्य मामलों के 14,18,94० प्रचार-प्रसार से संबंधित सामग्रियों को हटाया गया है। इसी तरह से निजी स्थानों से वाल राइटिग के 1,41,०79, पोस्टर्स के 4,96,582, बैनर्स के 2,88,38० तथा अन्य मामलों के 2,12,551 प्रचार-प्रसार से संबंधित सामग्री को हटाया गया है। चुनाव के दौरान वाहनों, बिना अनुमति मीटिग, लाउडस्पीकर एवं उत्तेजनात्मक भाषण तथा प्रलोभन आदि के 4,27० मामले प्रकाश में आए। इसमें 1,887 प्रकरणों में एफआईआर दर्ज कराई गई है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि आयकर, नारकोटिक्स, पुलिस तथा आबकारी द्बारा की गई कार्रवाई में अब तक कुल 188.16 करोड़ रुपये की जब्ती की गई है।  इसमें पुलिस एवं आयकर विभाग द्बारा 45.65 करोड़ रुपये की नगदी तथा नारकोटिक्स एवं पुलिस द्बारा कुल 25.8 करोड़ रुपये मूल्य की गांजा, स्मैक व चरस आदि की जब्ती की गई। इसके अलावा 71.77 करोड़ मूल्य की बहुमूल्य धातुएं सोना व चांदी आदि जब्त की गई है। आबकारी विभाग द्बारा 44.94 रूपये मूल्य की 1628०94.5 लीटर शराब जब्त की गई है।